Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

May 29, 2024 12:55 am

होमवर्क नहीं बने होने के कारण मासूम बच्ची ने बनाई अपने ही अपहरण की झूठी कहानी

हाजीपुर: बच्चे मासूम होते हैं उनकी मासूमियत अगर किसी काल्पनिक कहानी में तब्दील हो जाए तो यह उनके भविष्य के लिए सही नहीं जिस तरह से आज बच्चे खेल से वंचित होकर अपना बचा समय मोबाइल पर देते हैं वह सही नहीं है. हम ऐसा भी कह सकते हैं जिस तरह से निजी स्कूल के शिक्षक बच्चों पर होमवर्क का प्रेशर देते हैं वह कहीं ना कहीं से उनके अधिकारों का उल्लंघन हो रहा है बच्चों पर शिक्षकों और अभिभावकों का होमवर्क या पढ़ाई के लिए मानसिक दबाव सही नहीं है

क्यों बनाई बच्ची ने अपने ही अपहरण की कहानी

यह एक गंभीर विषय है एक छोटी बच्ची जिसकी उम्र लगभग 11 या 12 साल की होगी उसने अपने ही अपहरण की झूठी कहानी बनाई कारण केवल होमवर्क का नहीं बना रहना या इसके पीछे मोबाइल का बढ़ता प्रभाव भी कारण हो सकता है

मनोचिकित्सक ने बताया मोबाइल का बढ़ता प्रभाव और अभिभावकों का अपने बच्चों पर पढ़ाई को लेकर लगातार दिया जा रहा दबाव इस तरह की घटना का प्रमुख कारण हो सकता है

पटना के मशहूर मनोचिकित्सक डॉक्टर दीपक कुमार ने बताया कि इतनी छोटी बच्ची का इस तरह की घटना केवल होमवर्क नहीं बनाने के प्रेशर से बचने के लिए किया जाना कहीं ना कहीं बच्चों में जिस तरह से मोबाइल को लेकर आकर्षण पैदा हो रहा है वह इसका प्रमुख कारण हो सकता है

आजकल के अभिभावक अपने बच्चों से बहुत ज्यादा उम्मीद पढ़ाई को लेकर लगा रखे हैं. बच्चे मासूम होते हैं जिस माहौल में आप बच्चे को डालते हैं बच्चे का दिमाग उस माहौल के अनुसार विकसित होता है .अभिभावक या शिक्षक बच्चों पर होमवर्क के लिए अगर प्रेशर बनाते हैं और बच्चा उतना मानसिक तौर पर सक्षम नहीं है तो उसके साथ इस तरह का व्यवहार अमानवीय है और इस तरह के बच्चे खौफ में आकर अपने बचाव में मनगढ़ंत कहानियां बनाते हैं. जिसका मुख्य उद्देश्य शिक्षक और अभिभावकों से अपने आप को बचाना या फिर मोबाइल के कैरेक्टर के अनुसार अपने आप को ढालने की कोशिश करना ही प्रमुख वजह हो सकती है .

हाजीपुर में एक छोटी सी बच्ची होमवर्क नहीं बनाने के कारण रची अपने ही अपहरण की कहानी

घटना आज सुबह की है एक स्कूल की बच्ची होमवर्क नहीं बनाने के कारण अपने ही अपहरण की कहानी रच डाली.बच्ची ने अपने बयान में कहा कि उसे चार चक्के गाड़ी से अपहरण करने की कोशिश की गई .अपहरणकर्ता उसे चाकू का भय दिखाकर अपहरण करने की कोशिश की उसने कहा कि वह अपहरणकर्ता के चंगुल से किसी तरह मैं अपनी जान बचाकर भागी हूं .वह हाजीपुर के सुभाष चौक स्थित एक दवा की दुकान के सामने खड़ी मिली .

दुकानदार प्रत्यक्षदर्शी राजकुमार ने दिया बयान

प्रत्यक्षदर्शी दवा दुकानदार राजकुमार ने बताया कि वह बच्ची को अपने दुकान के पास परेशान हालत में खड़ा पाया जब उसने उस बच्ची से पूछा की क्या हुआ है, तब बच्ची ने अपने अपहरण की झूठी बातें उस दुकानदार को बताई कि मेरा कुछ लोगों द्वारा अभी-अभी चाकू के नोक पर अपहरण करने की कोशिश की गई मैं किसी तरह अपहरणकर्ता के चंगुल से बचकर भागी हूं

दवा दुकानदार ने लगाया लड़की के पिता को फोन

दवा दुकानदार ने बच्ची को समझा बूझकर अपने दुकान में बैठाया और उसे उसके पिता को मानवीय आधार पर फोन नंबर लेकर संपर्क किया उसके बाद पुलिस को सूचना दी गई पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन की और पीड़ित बच्ची से उसका बयान लिया

बयान के आधार पर पुलिस ने शुरू किया अनुसंधान

पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए बच्ची के बयान के आधार पर अनुसंधान शुरू किया घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज को पुलिस ने खंगाला तो मामला कुछ और निकाल. प्बच्ची के बातों से सीसीटीवी फुटेज कहीं से मिल नहीं खा रहा था

घटना थाना क्षेत्र हाजीपुर नगर का है नगर थाना प्रभारी अस्मित कुमार ने ट्विटर के माध्यम से किया पूरे मामले का खुलासा

https://x.com/SpVaishali/status/1722209712010375675?s=20

टाउन थाना प्रभारी हाजीपुर का बयान ट्विटर पर

हाजीपुर नगर थाना प्रभारी अस्मित कुमार ने ट्विटर के माध्यम से एक वीडियो द्वारा पूरे घटना का खुलासा किया उन्होंने कहा कि बच्ची के बयान के आधार पर पुलिस त्वरित कार्रवाई करते हुए घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल. बच्ची के बयान के आधार पर सीसीटीवी फुटेज कहीं से मिल नहीं खाया. मामला गंभीर था इसलिए पुलिस ने पूरी सतर्कता बनाते हुए मामले की तह तक अपनी जांच पड़ताल की मालूम चला की बच्ची का होमवर्क नहीं बने होने के कारण बच्ची ने इस तरह की काल्पनिक कहानी रच डाली अपहरण का यह पूरा मामला पूरी तरह से झूठा और बेबुनियाद है .

विज्ञापन

0
0

Leave a Comment

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

Weather Data Source: wetter morgen Delhi

राशिफल