पश्चिम बंगाल के बीरभूम में हुई हिंसा मामले में मानवाधिकार आयोग ने मांगा जवाब

बीरभूम में आठ लोगों को जिंदा जला दिया गया था. मामले को ले ममता सरकार की हर तरफ किरकिरी हो रही है. मानवाधिकार आयोग ने भी इसपर जवाब मांगा है.

पश्चिम बंगाल के बीरभूम में आठ लोगों को जिंदा जला दिया गया था. मामले को ले ममता सरकार की हर तरफ किरकिरी हो रही है. मानवाधिकार आयोग ने भी इसपर जवाब मांगा है.

बता दें कि वर्तमान में इस मामले की जांच SIT द्वारा कराई जा रही है. बता दें कि रामपुरहाट में टीएमसी नेता भादू खान की हत्या के बाद इलाके में हिंसा भड़क उठी और इस घटना में 2 बच्चों समेत 8 लोगों की जान चली गई. फॉरेंसिक रिपोर्ट में बताया गया कि लोगों की मौत जिंदा जलाए जाने व बुरी तरह पीटने के कारण हुई है.
इस घटना पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार, राज्य पुलिस प्रमुख को बीरभूम जिले में हुई हिंसा और 8 लोगों की मौत के मद्देनजर नोटिस जारी किया है. आयोग ने लोगों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए पुलिस द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में विस्तार से जानकारी साझा करने वाली रिपोर्ट को 4 सप्ताह के भीतर ही पेश करने का निर्देश दिया है.

Show More

Related Articles