नालंदा में सीएम नीतीश कुमार के कार्यक्रम स्थल से 15 से 18 फीट की दूरी पर हुआ ब्लास्ट, बाल बाल बचे सीएम

नालंदा स्थित सिलाव के गांधी हाई स्कूल में सीएम नीतीश कुमार के जन संवाद कार्यक्रम के दौरान ब्लास्ट हो गया। विस्फोट कार्यक्रम स्थल में सीएम से महज 15-18 फीट दूरी पर हुआ।

नालंदा स्थित सिलाव के गांधी हाई स्कूल में सीएम नीतीश कुमार के जन संवाद कार्यक्रम के दौरान ब्लास्ट हो गया। विस्फोट कार्यक्रम स्थल में सीएम से महज 15-18 फीट दूरी पर हुआ। विस्फोटक की क्षमता कम आंकी जा रही है। कुछ लोग इसे पटाखा बता रहे हैं। फिलहाल किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। पुलिस ने इस मामले में एक को गिरफ्तार किया है।

गनीमत रही कि यह पटाखा था, जो नीतीश कुमार से थोड़ी दूर गिरा। इससे कारपेट जल गई। घटना के बाद अफरातफरी मच गई। लोग इधर-उधर भागने लगे। पहले लगा कि फायरिंग की गई है, बाद में पटाखा फोड़ने की बात सामने आई। पुलिस ने आरोपित को पकड़ लिया है। उसकी पहचान नालंदा के इस्लामपुर थाना क्षेत्र के सत्यारगंज निवासी 22 वर्षीय शुभम आदित्य के रूप में हुई है। पुलिस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। उसके पास से जब्त पटाखा और माचिस मिली है। विदित हो कि हाल के दिनाें में मुख्‍यमंत्री के कार्यक्रम में सुरक्षा व्‍यवस्‍था में दोबारा ऐसी बड़ी चूक हुई है। पिछले दिनों पटना के बख्तियारपुर में एक युवक ने सीएम पर हमले की कोशिश की थी। हालांकि जांच में पता चला कि युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त था।
नालंदा में हुई घटना के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सुरक्षा पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। शरारती तत्व माचिस और विस्फोटक लेकर डी एरिया में घुस गया, लेकिन सुरक्षाकर्मियों को भनक तक नहीं लगी। कार्यक्रम स्थल पर मुख्यमंत्री त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में थे, जहां स्पेशल ब्रांच के इंस्पेक्टर से लेकर सिपाहियों की तैनाती थी। वहीं, सामने वाले घेरे में एसपी और एएसपी रैंक के दो पदाधिकारी थे। नियमानुसार, कार्यक्रम से पूर्व श्वान दस्ता और बम निरोधक दस्ता स्थल का निरीक्षण करते हैं। कार्यक्रम पूरा होने तक दोनों स्क्वायड वहीं रहते हैं। इस घटना के बाद दोनों दस्ता की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं। खोजी कुत्ते भी विस्फोटक को सूंघ नहीं पाए।

Show More

Related Articles