धर्मांतरण पर बोले जीतन राम मांझी- जब अपने घर में मान न मिले तो बदलाव स्‍वभाविक

Patna. बिहार में कमजोर तबके के लोगों द्वारा बड़े पैमाने पर लगातार धर्मांतरण ( Religious Conversion) का मुद्दा गरमाता जा रहा है. गया जिले के विभिन्न क्षेत्रों में हिंदू धर्म छोड़ ईसाई धर्म अपना रहे हैं. गया के नैली पंचायत के दुबहल गांव के महादलित टोला सहित डोभी प्रखंड में मिशनरी प्रार्थना सभा में सैकड़ों लोग शामिल हो हो रहे हैं. लेकिन क्या धर्मांतरण सही है? लोग प्रलोभन लेकर धर्मांतरण कर रहे हैं जो जाहिर तौर पर एक चिंता का विषय माना जा है. इस बीच धर्मांतरण को लेकर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी (Jeetan Ram Manjhi) ने इसके लिए धर्म के भीतर भेदभाव को धर्मांतरण का प्रमुख कारण बताया है. उन्होंने गया में मीडिया से बात करते हुए कहा कि जब अपने घर में मान न मिले तो बदलाव होना स्वाभाविक है.

जीतन राम मांझी  ने कहा कि धर्म को लेकर भेदभाव ही धर्मांतरण का प्रमुख कारण है. जब अपने घर में मान न मिले तो स्वभाविक है लोग दूसरे घरों में जाएंगे ही. उन्होंने कहा कि धर्म परिवर्तन से हिंदुस्तान की एकता पर कोई खतरा नहीं है क्योंकि यह धर्मनिरपेक्ष देश है. मन के अनुसार धर्म पालन करना व प्रचार करने की स्वतंत्रता है.  ऐसी स्थिति में कौन कहां जा रहा है यह कोई समस्या का विषय मेरी समझ में नहीं है.

Show More

Related Articles