आज से शुरू हो रहा है नवरात्रि का पावन पर्व, यह है पूजन का सही वक्त

आज से शुरू हो रहा है नवरात्रि का पावन पर्व, यह है पूजन का सही वक्त लेकिन इस बार नौ दिन के बजाय आठ दिन ही मां की पूजा की जाएगी.

आज से शुरू हो रहा है नवरात्रि का पावन पर्व, यह है पूजन का सही वक्त लेकिन इस बार नौ दिन के बजाय आठ दिन ही मां की पूजा की जाएगी. चतुर्थी तिथि  का क्षय होने के कारण इस बार नौ के बजाय आठ दिन के ही नवरात्र होंगे. 13 अक्तूबर को महाअष्टमी और 14 अक्तूबर को महानवमी मनाई जाएगी.
लगभग सभी घरों में कलश स्थापना करके मां की पूजा की जाती है. घट स्थापना के लिए सात अक्तूबर (गुरुवार) को दो विशेष मुहूर्त हैं. पहला मुहूर्त सात अक्तूबर की सुबह  6:17  से  7:44  के बीच है. इस समय शुभ चौघड़िया मुहूर्त उपस्थित होगा। इसके बाद,  सुबह  9:30  बजे से स्थिर लग्न का शुभ मुहूर्त शुरू हो जाएगा जो  11:43  बजे तक रहेगा.

तृतीय और चतुर्थी एक दिन ही
देवी मंडपों में तृतीय तिथि को चंद्रघंटा देवी और चतुर्थी को देवी कूष्मांडा की पूजा-अर्चना होती है. 9 अक्तूबर को प्रात: 7:48 बजे तक तृतीया तिथि रहेगी और उसके बाद चतुर्थी. इसलिए, दोनों देवियों की आराधना एक ही दिन 9 अक्तूबर को होगी.
बता दें कि इस बार पितृ पक्ष में एक दिन की वृद्धि से नवरात्र का एक दिन घटा है.

यह है तिथियाँ-
प्रतिपदा     7 अक्तूबर     मां शैलपुत्री
द्वितीया     8 अक्तूबर     मां ब्रह्मचारिणी
तृतीया/चतुर्थी     9 अक्तूबर     मां चंद्रघंटा/मां कूष्मांडा
पंचमी     10 अक्तूबर     मां स्कंदमाता
षष्ठी     11 अक्तूबर     मां कात्यायनी
सप्तमी     12 अक्तूबर     मां कालरात्रि
अष्टमी     13 अक्तूबर     मां महागौरी (दुर्गा अष्टमी)
नवमी     14 अक्तूबर     मां सिद्धिदात्री (महानवमी)

Show More

Related Articles