कांग्रेसी बनते ही बोले कन्हैया, कांग्रेस नहीं बचेगी तो देश नहीं बचेगा

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष व सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने कांग्रेस का दामन थाम लिया. कांग्रेस का हाथ थामते ही कन्हैया कुमार ने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक बड़े जहाज की तरह है.

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष व सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने कांग्रेस (Congress) का दामन थाम लिया. कांग्रेस का हाथ थामते ही कन्हैया कुमार ने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक बड़े जहाज की तरह है. अगर इसे बचाया जाता है, तो मेरा मानना है कि कई लोगों की आकांक्षाएं, महात्मा गांधी की एकता, भगत सिंह की हिम्मत और बीआर अंबेडकर के समानता के विचार की भी रक्षा की जाएगी.
उन्होंंने बिना नाम लिए भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा और कहा कि मुझे ये महसूस होता है कि देश में कुछ लोग सिर्फ लोग नहीं हैं, वो एक सोच हैं. वो देश की सत्ता पर न सिर्फ काबिज़ हुए हैं, देश की चिंतन परंपरा, संस्कृति, मूल्य, इतिहास, वर्तमान, भविष्य खराब करने की कोशिश कर रहे हैं.
आप अपने दुश्मन का चुनाव कीजिए, विपक्ष का चुनाव कीजिए दोस्त अपने आप बन जाएंगे. इस लोकतांत्रिक पार्टी को इसलिए ज्वाइन कर रहा हूं क्योंकि देश के बहुत से युवा सोच रहे हैं कि कांग्रेस नहीं बचेगी तो यह देश नहीं बचेगा.’

कन्हैया कुमार ने आगे कहा कि वह यह नहीं कहते कि उनकी जिम्मेदारी एक पार्टी के प्रति है, लेकिन देश कि एक जो सबसे बड़ी पार्टी है अगर उसे नहीं बचाया गया तो, अगर बड़े जहाज को नहीं बचाया गया तो छोटी-छोटी कश्तियां भी नहीं बचेंगी.

बताते चलें कि कन्हैया मूल रूप से बिहार के बेगूसराय के रहने वाले हैं. कन्हैया पिछले लोकसभा चुनाव में बिहार की बेगूसराय लोकसभा सीट से ही केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के खिलाफ भाकपा के प्रत्याशी के तौर पर चुनाव मैदान में उतरे थे, हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा था.

 

यह भी पढ़ें- पटाखों के बैन पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, रोजगार के लिए नहीं कर सकते नागरिकों के जीवन के अधिकार का उल्लंघन

Show More

Related Articles