पंजाब कांग्रेस में मचे घमासान के बीच अमित शाह से मिले कैप्टन अमरिंदर, कयासों का बाजार गर्म

पंजाब कांग्रेस में मचे सियासी घमासान के बीच हाल ही में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिये कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है.

पंजाब कांग्रेस में मचे सियासी घमासान के बीच हाल ही में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिये कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है. मुलाकात की यह टाइमिंग कई मायनों में खास है, क्योंकि अभी दो दिन पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. औपचारिक तौर पर कहा जा रहा है कि यह मुलाकात कृषि कानूनों को लेकर थी, लेकिन असल में मायने कुछ और ही हैं.

गृह मंत्री अमित शाह व कैप्टन अमरिंदर सिंह की मुलाकात पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. कांग्रेस प्रवक्ता ने रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि सत्ता में बैठे मठाधीशों के अहंकार को ठेस पहुंची है, क्योंकि एक दलित को मुख्यमंत्री बना दिया तो वो पूछते हैं कि कांग्रेस में फ़ैसले कौन ले रहा है? दलित को सर्वोच्च पद दिया जाना उन्हें रास नहीं आ रहा. दलित विरोधी राजनीति का केंद्र और कहीं नहीं, अमित शाह जी का निवास बना हुआ है.


रणदीप सिंह सुरजेवाला यहीं नहीं रूके, उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा कि अमित शाह जी व मोदी जी पंजाब से प्रतिशोध की आग में जल रहे हैं. वे पंजाब से बदला लेना चाहते हैं क्योंकि वे किसान विरोधी काले कानूनों से अपने पूंजीपति साथियों का हित साधने में अब तक नाकाम रहे हैं. भाजपा का किसान विरोधी षड्यंत्र सफल नहीं होगा.

गौरतलब है कि बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के दबाव में कांग्रेस आलाकमान ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने के लिए मजबूर कर दिया था. कैप्टन के इस्तीफे के कुछ ही दिनों बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब सरकार के कई फैसलों पर सवाल खड़े करते हुए प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया.

 

यह भी पढें- पटाखों के बैन पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, रोजगार के लिए नहीं कर सकते नागरिकों के जीवन के अधिकार का उल्लंघन

Show More

Related Articles