राहत : झारखंड में हार्ट के मरीजों को ट्रीटमेंट के लिए फ्री में मिलेगा स्टेंट वाल्व

इंप्लांट के लिए कोई चार्ज नहीं

रांची : राजधानी रांची समेत पूरे राज्य में हेल्थ सिस्टम को दुरुस्त करने को लेकर स्वास्थ्य विभाग रेस हो गया है, वहीं सभी मेडिकल कॉलेजों को भी व्यवस्थित किया जा रहा है, जिससे कि इलाज के लिए आनेवाले मरीजों को परेशानी का सामना न करना पड़े। इतना ही नहीं, इलाज में इस्तेमाल होनेवाली मशीनें और इक्विपमेंट्स भी बाहर से न खरीदना पड़े इसके भी इंतजाम किए जा रहे है। इस कड़ी में हार्ट के मरीजों को फ्री में स्टेंट, वाल्व और आईसीडी (हार्ट के मरीजों के लिए इस्तेमाल की जानेवाली मशीन) उपलब्ध कराने की तैयारी है। जिसका प्रस्ताव स्वास्थ्य विभाग ने तैयार कर लिया है। यह लागू होते ही हार्ट के मरीजों को बड़ी राहत मिल जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग ने अपने प्रस्ताव में आर्थो, ब्लाइंड और डीफ के लिए भी प्रावधान किया है। जिसके तहत आर्थो के मरीजों को सभी तरह के इंप्लांट भी फ्री में ही उपलब्ध कराने की तैयारी है, वहीं ब्लाइंड और डीफ मरीजों को एड फ्री में दिए जाएंगे। इससे मरीजों को इलाज में किसी तरह का खर्च नहीं होगा। वहीं सामान की खरीदारी के चक्कर में इलाज में देरी भी नहीं होगी।

राज्य में है 9 मेडिकल कॉलेज

राज्य में पहले से तीन मेडिकल कॉलेज चल रहे थे। अब 9 मेडिकल कॉलेज चल रहे है। जिसमें एम्स देवघर भी शामिल है। इन सभी कॉलेजों को मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के मानकों के अनुसार संचालन किया जाएगा। इसके लिए कॉलेज में जरूरी मशीन, इक्विपमेंट्स की खरीदारी भी करने का निर्देश दिया गया है। जिससे कि कॉलेज की मान्यता बची रहे। साथ ही मरीजों को इलाज के लिए कहीं और जाने की जरूरत न पड़े।

Show More

Related Articles