स्टार प्रचारक की लिस्ट से हटाए जाने पर छलका तेजप्रताप का दर्द, कही यह बात

बिहार में विधानसभा उपचुनाव के लिए राष्ट्रीय जनता दल ने स्टार प्रचारकों का लिस्ट जारी कर दिया है. इस लिस्ट से लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव का नाम काट दिया गया है.

बिहार में विधानसभा उपचुनाव के लिए राष्ट्रीय जनता दल ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट से लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tejpratap Yadav) का नाम काट दिया गया है. इतना ही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी व उनकी बड़ी बेटी राज्यसभा सांसद मीसा भारती का भी नाम इस लिस्ट से हटा दिया गया है.
इतना सब होने के बाद तेजप्रताप यादव ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर के जरिये अपना दर्द बयां किया है. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि सूची में मैं रहता नहीं रहता लेकिन मां और दीदी का नाम तो रहना चाहिए था. उन्होंने आगे लिखा है कि ऐ अंधेरे देख ले मुंह तेरा काला हो गया. मां ने आँखें खोल दीं, घर में उजाला हो गया… मेरा नाम रहता ना रहता मां और दीदी का नाम रहना चाहिए था. इस गलती के लिए बिहार की महिलाएं कभी माफ नहीं करेगीं. दशहरा में हम मां की ही अराधना करतें हैं ना जी!
बता दें कि बिहार में विधानसभा का उपचुनाव कुशेश्वरस्थान व तारापुर में होने वाला है. जिसके लिए सभी पार्टियों ने अपने-अपने उम्मीदवार उतारे हैं. इस चुनाव के लिए राजद ने 20 स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में पहले नंबर पर पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव हैं, जबकि दूसरे नंबर पर तेजस्वी यादव हैं. इसी लिस्ट से तेजप्रताप यादव का नाम गायब है, जिसके कारण उन्होंने ट्विटर पर अपना दर्द बयां किया है.


गौरतलब है कि लालू यादव के बड़े बेटे व बिहार सरकार में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पिछले कुछ समय से पार्टी व संगठन से नाराज चल रहे हैं. पार्टी का शीर्ष नेतृत्व भी उन्हें भाव नहीं दे रहा है, जिसके चलते तेजप्रताप यादव गाहे-बगाहे मीडिया में बयान देते रहते हैं.

यह भी पढ़ें- राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी का बड़ा बयान, कहा पार्टी से निष्कासित हो चुके हैं तेजप्रताप यादव

Show More

Related Articles