बागी विधायकों और कांग्रेस को झामुमो ने दी नसीहत कहा, झामुमो माटी की पार्टी

जो गद्दारी करेगा कहीं टिक नहीं पाएगा, कॉमन मिनिमम प्रोग्राम और कोर्डिनेशन कमेटी की अलग से जरूरत नहीं

रांची : झामुमो जारी खींचतान के बीच झामुमो के वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने पार्टी की ओर से बागी विधायकों को कड़ी नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि यह उनका राजनीतिक भटकाव है। सारी चीजें पार्टी के संज्ञान में है। बहुत जल्द पार्टी फोरम पर सारी बातें होगी। पार्टी के विधायक या नेता जो कह और कर रहे हैं इससे पार्टी की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इतिहास गवाह है कि बड़े से बड़े कद्दवार नेता जिन्होंने पार्टी के मेनस्ट्रीम को चैलेंज किया है आज उनकी क्या स्थिति है। झामुमो माटी की पार्टी है जो माटी से गद्दारी करेगा वह कहीं टिक नहीं पाएगा। जब-जब झामुमो पर प्रहार हुआ और पार्टी मजबूती के साथ उभरी है।

इधर, कांग्रेस द्वारा सरकार पर कॉमन मिनिमम प्रोग्राम और को-ऑर्डिनेशन कमेटी बनाए जाने के दवाब पर पार्टी ने उसे भी सलाह दी है। सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सत्तारूढ़ दल झारखंड मुक्ति मोर्चा हमार सहयोगी दलों के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन रहा है। जिसे प्री-पोल एलायंस भी कहा जाता है। कई सारी चीजें पहले से कॉमन रही है। एजेंडा भी पहले से ही तय है। लिहाजा अलग से कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बहुत कोई जरूरी नहीं है। जहां तक बात को-ऑर्डिनेशन कमेटी की है तो यह तब बनती है जब को-आर्डिनेशन का अभाव हो। सिर्फ कॉस्मेटिक ऑर्नामेंट्स के लिए कोआर्डिनेशन कमेटी बना देना से कोई फलाफल नहीं निकलेगा।

Show More

Related Articles