पुलिसिया दबंगई! अवैध वसूली के लिए करते हैं बिना नंबर प्लेट की गाड़ी का इस्तेमाल

बिहार के हाजीपुर में अजीबोगरीब स्थिति उत्पन्न हो गई, जब आम लोगों की रक्षा करने वाली पुलिस की करीब तीन घंटे तक जान लोगों के बीच फंसी रही

 

बिहार के हाजीपुर में अजीबोगरीब स्थिति उत्पन्न हो गई, जब आम लोगों की रक्षा करने वाली पुलिस की करीब तीन घंटे तक जान लोगों के बीच फंसी रही. मरने-मारने को उतारू गुस्साई भीड़ के बीच से पुलिसवालों ने बड़ी मुश्किल से अपने सहकर्मियों को निकाला.

खबरों के मुताबिक जिले के सदर अनुमंडल अंतर्गत नगर थाना के अंजानपीर इलाके में उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब बालू कारोबारियों ने सोनपुर थाना के चार पुलिसकर्मियों को पुलिस वाहन में ही बंधक बना लिया. पुलिस की गाड़ी के चारों तरफ लोगों की भारी भीड़ जुट गई, जिससे पार पाना पुलिस के लिए असंभव-सा हो गया. हालात इतने बिगड़ गये कि बंधक बने पुलिसकर्मियों को अपने जान बचाने के लिए अपने सहकर्मियों को बुलाना पड़ा. जिसके बाद नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और सोनपुर थाना के सभी पुलिस कर्मियों को रिहा कराया गया.
दरअसल, बालू कारोबारियों ने सोनपुर पुलिस पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए बताया कि सरकारी चालान कटाने के बाद भी पुलिस वाले अवैध रूप से पैसे की मांग करते हैं और नहीं देने पर गाड़ी सीज करने की और फाइन काटने की धमकी देते हैं.
बताते चलें कि आये दिन ऐसा होता रहता है जब बालू के अवैध खनन के नाम पर पुलिसवाले लोगों को धमकाकर पैसे की मांग करते हैं और नहीं देने पर फंसाने की धमकी भी देते हैं.

यह भी पढ़ें- दारोगा ने बनाया अवैध कमाई का रिकॉर्ड, 29 महीने का वेतन खाते में ही लेकिन ले ली 71 लाख की जमीन

Show More

Related Articles