तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए अस्पतालों की व्यवस्था में सुधार करे सरकार: संजय पोद्दार

अंतराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश सचिव संजय पोद्दार ने तीसरी लहर ओमीक्रोन को ध्यान में रखते हुए सभी सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था में सुधार लाने की मांग की है

अंतराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश सचिव संजय पोद्दार ने तीसरी लहर ओमीक्रोन को ध्यान में रखते हुए सभी सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था में सुधार लाने की मांग की है। भ्रष्टाचार और अव्यवस्था के कारण सरकारी अस्पतालों की हालत खस्ता है खासकर ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें तो बहुत ही बुरी स्थिति है जबकि निजी अस्पताल लूट का अड्डा बन चुका है, कोरोना कि दूसरी लहर में सरकारी अस्पतालों की क्या स्थिति थी पूरी तरह लोगों के सामने है दूसरी लहर मे रिम्स जैसी संस्थाओं में जमकर रेंमडीशिविर की जम कर कालाबाजारी हुई इसमें डॉक्टर से लेकर नर्स तक शामिल थे महामारी के दौरान सरकारी अस्पताल ने जहां हाथ खड़े कर लिए वही निजी अस्पतालो ने मरीजो से मनमाने पैसे वसूले पर सही उपचार तक नहीं किया नतीजा जो अस्पताल गया वह लौटकर घर नहीं आया घर वाले कर्जदार हो गए । कई परिवारों की स्थिति अत्यंत नाजुक हो गई कितने लोगों को अपने घर बार खेत खलियान बेचने पड़े कई लोगों की आज आर्थिक स्थिति खराब हो गई ।
सम्मेलन सरकार से मांग करती है कि तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए सरकारी अस्पतालों को समय रहते व्यवस्था में सुधार लाया जाए ताकि निजी अस्पतालो की लूट से आम जन बच पाए और गरीब लोगों को उचित चिकित्सा का लाभ मिल सके और उनका जीवन बचाया जा सके.

रिपोर्ट- अमर कुमार मिश्रा, रांची

Show More

Related Articles