चारा घोटाले के दोषी लालू यादव पर पैनी नजर, रिम्स के पेइंग वॉर्ड में थ्री लेयर सिक्योरिटी

चारा घोटाले के एक और मामले में दोषी करार दिए गए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद मंगलवार को रिम्स के पेइंग वॉर्ड में शिफ्ट किए जा चुके हैं।

चारा घोटाले के एक और मामले में दोषी करार दिए गए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद मंगलवार को रिम्स के पेइंग वॉर्ड में शिफ्ट किए जा चुके हैं। अब पेइंग वॉर्ड-11 के ईद-गिर्द त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था यानी थ्री लेयर सिक्योरिटी का जाल बुन दिया गया है। पहली सुरक्षा पेइंग वॉर्ड के मेन गेट पर की गई है, जबकि दूसरी सुरक्षा वॉर्ड के अंदर और तीसरी सुरक्षा व्यवस्था कमरे के बाहर की गई है। वहीं लालू प्रसाद अगर टहलने के लिए कमरे से बाहर निकलेंगे तो उस वक्त भी सुरक्षाकर्मी मौजूद रहेंगे। लालू प्रसाद की सुरक्षा की जिम्मेवारी डीएसपी स्तर के अधिकारी को दी गई है, जबकि समय-समय पर एसएसपी और सिटी एसपी भी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे, राजद सुप्रीमो की सुरक्षा में 3 शिफ्ट में जवान नियुक्त होंगे। इसके लिए 36 से अधिक पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। जेल मैनुअल के तहत लालू प्रसाद से रिम्स के चिकित्सकों को छोड़ कर किसी अन्य को मिलने की अनुमति नहीं है। हालांकि सप्ताह में एक दिन शनिवार को 3 लोगों को लालू प्रसाद से मिलने की अनुमति दी जा सकती है, लेकिन पेइंग वॉर्ड नंबर-11 के ईद-गिर्द अभी सुरक्षाकर्मी किसी को फटकने तक भी नहीं दे रहे हैं। बता दें कि चारा घोटाले के रांची के 5वें और अंतिम मामले में दोषी करार दिए गए लालू यादव को देर शाम रिम्स के पेइंग वॉर्ड में कमरा संख्या ए-11 में भर्ती कराया गया है। जहां उनके पहुंचने से पहले ही सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गई थी। पेइंग वॉर्ड के प्रथम तल के कमरा संख्या ए-11 को रिम्स प्रशासन ने पहले से ही तैयार रखा था, जिससे यदि लालू को अदालत रिम्स में भर्ती करने का निर्देश देती है तो उन्हें यहां भर्ती किया जा सके।

Show More

Related Articles