हेमंत सोरेन के मंत्री खुद पहुंचे सिविल कोर्ट, पूर्व विधायक के खिलाफ किया मानहानि का मुकदमा

रांची : झारखंड के गढ़वा जिले में उस समय अजीबोगरीब तस्वीर देखने को मिली, जब झारखंड सरकार के मंत्री खुद मानहानि का मुकदमा दर्जा कराने गढ़वा सिविल कोर्ट पहुंच गए। दरअसल गढ़वा के स्थानीय विधायक सह सूबे के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथलेश ठाकुर ने खुद गढ़वा सिविल कोर्ट पहुंचकर भाजपा के पूर्व विधायक सत्येन्द्रनाथ तिवारी पर मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है। सीएम हेमंत सोरेन की सरकार में मंत्री मिथलेश ठाकुर के खुद सिविल कोर्ट पहुंचने और मामला दर्ज कराने को लेकर वहां मौजूद लोग हैरान हो गए। इस बारे में मंत्री मिथलेश ठाकुर ने बताया कि पूर्व विधायक ने व्यक्तिगत तौर पर मेरे एवं मेरे परिवार पर टिपण्णी की है। हमने उन्हें लीगल नोटिस भेजा था, लेकिन उसका कोई जवाब नहीं आया। हमें लगा कि वह माफी मांग लेंगे, लेकिन, उन्होंने ऐसा नहीं किया। ठाकुर ने बताया कि इसलिए अंत में मैंने उनके खिलाफ मानहानि का केस दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि यदि जब कोई लोकतंत्र की हत्या करने पर उतारू हो जाए तो क्या किया जा सकता है, लोकतंत्र में विरोध करिए प्रतिशोध मत करिए। वहीं, इस मामले पर भाजपा के पूर्व विधायक सत्येन्द्रनाथ तिवारी ने कहा कि मैंने जो आरोप लगाया है, मैं आज भी उस पर अडिग हूं। मैंने कहा था कि मंत्री के भाई योजनाओं में सात प्रतिशत का कमीशन लेते हैं। खुद बालू के कारोबार में संलिप्त हैं, इसलिए मैंने ऐसा बयान दिया। सत्येन्द्रनाथ तिवारी ने कहा कि मिथलेश ठाकुर ने हिंदी भाषी के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया है। जिनका मान ही नहीं होता है वो क्या मानहानि का केस करेंगे?

Show More

Related Articles