राष्ट्रीय अध्यक्ष की जयंती, बोले रंजीत श्रीवास्तव-रवि नंदन सहाय हमेशा याद रहेंगे

बिहार के वैशाली जिले में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और समाज सुधारक स्वर्गीय रवि नंदन सहाय (Ravi Nandan Sahay) की जयंती मनाई गई। यह आयोजन अखिल भारतीय कायस्थ महासभा जिला वैशाली हाजीपुर के तत्वधान मे किया गया था। यह आयोजन कायस्थ महासभा के अलावा चित्रगुप्त सेवा समिति एव कायस्थ महासभा युवा संभाग द्वारा स्वर्गीय शिव कुमार श्रीवास्तव सभागार में मनाई गई। सभागार मे कायस्थ महासभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष तिरहुत शारिरीक फिजकल कॉलेज झफहा मुजफ्फरपुर श्याम नन्दन सहाय कॉलेज बेला मुजफ्फरपुर के निदेशक बाघी स्टेट (महुआ) के मालिक रास्ट्रीय स्तर पर समाज के सभी वर्गो को आर्थिक एवं समाजीक मदद करने वाले प्रसिद्ध समाजसेवी कायस्थ रत्न पटना के सात वार मेयर रहे पूर्व विधायक स्वर्गीय के एन सहाय जी के पुत्र स्वर्गीय रबी नन्दन सहाय जी की प्रथम जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई। 

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री युवा रंजीत श्रीवास्तव संचालन बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राजकुमार दिवाकर ने किया। कार्यक्रम में रंजीत श्रीवास्तव ने सबसे पहले समाज के लोगों के साथ स्वर्गीय रवि नन्दन सहाय (Ravi Nandan Sahay) की तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा की स्वर्गीय रवि नन्दन सहाय (Ravi Nandan Sahay) समाज को एक सूत्र मे बांधे रखते थे अच्छे संगठनकर्ता थे। अपने जीवन के आखिरी सांस तक उन्होंने संगठन और समाज के बारे मे सोचते हुए अपने प्राण त्याग दिये। उनका समय से पहले जाना समाज संगठन और मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है।

इस दौरान रंजीत श्रीवास्तव ने अपनी पुरानी यादों को ताजा करते हुए बताया कि ‘एक बार जब उनकी तबियत ज्यादा खराब थी तबतो युवा संभाग का राष्ट्रीय सम्मेलन उतर प्रदेश वाराणसी मे आयोजित किया गया था। उद्घाटन उन्ही को करना था इसी के संदर्भ मे राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा डॉक्टर अमित श्रीवास्तव और मैं राष्ट्रीय महामंत्री युवा रंजीत श्रीवास्तव उनके पटना आवास सहाय सदन मे उनसे मिले और उनकी स्वास्थ्य की स्तिथि को देखते हुए हमलोगों ने कहा की राष्ट्रीय समेलन को स्थगीत कर देते हैं या तारिख को आगे बढा देते है। इसपर उन्होंने बेड पर पड़े-पड़े सख्त शब्दों में कहा की मैं रहूं या ना रहू पहले से तय की गई तारीख को बढ़ाने की जरुरत नहीं है। संगठन और समाज का कोई काम रुकना नही चाहिये।’

रंजीत श्रीवास्तव ने उनके व्यक्तितव की प्रशंसा करते हुए कहा कि ‘उन्हीं की देन है की मेरी पहचान राष्ट्रीय स्तर पर संगठन मे हुई। इस समारोह मे मुख्य रुप से प्रदेश उपाध्यक्ष बिजय लाला, नगर परिषद के उप सभा पति निकेत सिन्हा, जिला अध्यक्ष रबिन्द्र रतन, हिमांशु भुषण सिन्हा, जिला सचिव पंकज श्रीवास्तव, राजन वर्मा, लोजपा नेता मनोज सिन्हा, प्रदेश उपाध्यक्ष महिला संभाग सह भाजपा जिला उपाध्यक्ष हेमलता वर्मा, लालगंज प्रखंड अध्यक्ष नवल सिन्हा, जिला उपाध्यक्ष गणेश श्रीवास्तव, लालगंज jdu सवर्ण प्रकोस्ट के प्रदेश उपाध्यक्ष अमरदीप फूलन, jdu नेता अजीत किशोर, नरायण विजय श्रीवास्तव और चित्रगुप्त मन्दिर हाजीपुर के अध्यक्ष डाक्टर रंजन मौजूद थे।

इन सभी के अलावा सचिव प्रतिक येस्स्विक, jdu नगर निकाय के जिला अध्यक्ष संदिप कुमार, छोटु संजीत कुमार, मुकुल कुमार श्रीवास्तव, माहबीर चौक मन्दिर के अध्यक्ष रवि भुषण श्रीवास्तव, राजद नेता अवधेश सिन्हा, हाजीपुर प्रखंड अध्यक्ष पराजित वर्मा बिट्टू आशुतोष कुमार अधिवक्ता, संजीत कुमार अधिवक्ता, राकेश रंजन रिक्कू अधिवक्ता, कुमार राजेशम अधिवक्ता, शिव शंकर प्रसाद, आकाश कुमार अधिवक्ता, अमित कुमार सिप्पू अधिवक्ता, शौरभ कुमार, जेडीयू नेत्री नीतू रिना कुमारी श्रीवास्तव, ज्ञान प्रकाश वर्मा, समाजसेवी इन्दु कौशल, डॉक्टर संजीव सिन्हा, बिकाश आनन्द, मुकेश रंजन सिंह सागर समेत कई अन्य लोग मौजूद थे। इस मौके पर उनकी याद मे पौधा रोपण भी किया गया

Show More

Related Articles