राजद सुप्रीमो के खिलाफ ईडी दर्ज कर सकती है प्राथमिकी, डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी की मामला

लालू प्रसाद व अन्य के विरुद्ध मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत जांच करने का निर्देश

रांची राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के खिलाफ ईडी प्राथमिकी दर्ज कर सकती है। सीबीआई की विशेष अदालत ने चारा घोटाले के डोरंडा कोषागार से अवैध तरीके से निकासी मामले में लालू प्रसाद व अन्य के विरुद्ध मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत जांच करने का निर्देश दिया है। कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले में कहा गया है कि इस मामले में दोषियों व मृत आरोपियों द्वारा अवैध तरीके से जो संपत्ति अर्जित की गई है, उन संपत्तियों की पहचान नहीं की जा सकी है। इसलिए यह मामला मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत जांच का विषय है। इससे पहले दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में ईडी लालू के खिलाफ जांच शुरू कर चुका है।

15 दिनों तक क्वारंटाइन में रहेंगे चारा घोटाला मामले में सजा पाए 35 दोषी

चारा घोटाला मामले में सजा पाए 35 दोषी 15 दिनों तक क्वारंटाइन में रहेंगे। इन्हें बिरसा मुंडा होटवार के दो वार्ड में क्वारंटाइन कर दिया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है, क्योंकि इनके कारण अन्य कैदियों में कोरोना संक्रमण नहीं फैल जाए। क्वारंटाइन की अवधि पूरी होने के बाद सभी 35 सजायाफ्ता जेल के छह वार्ड में शिफ्ट कर दिए जाएंगे। इनमें दो सजायाफ्ता लालू यादव और केएम प्रसाद बीमारी के कारण इस समय रांची रिम्स में इलाजरत हैं। होटवार जेल प्रशासन के अनुसार, वीआइपी कैदियों की निगरानी के लिए मेडिकल टीम का गठन किया गया है। डाक्टर लगातार ऐसे कैदियों की सेहत की जांच कर रहे हैं। जरूरत के मुताबिक इन्हें इलाज का प्रबंध किया जा रहा है। कुछ कैदी ऐसे भी हैं जो जेल अस्पताल की सेवा उठा रहे हैं। कई कैदी तरह-तरह की बीमारियों से पीड़ित हैं।

Show More

Related Articles