बजट सत्र : घोषणा पत्र किसी भी वादे को पूरा नहीं कर सकी सरकार

किसानों के 2 लाख रुपए तक ऋण माफ करने की घोषणा की थी : अनंत ओझा

रांची : झारखंड विधानसभा के बजट सत्र के छठे दिन कृषि विभाग के अनुदान मांग पर कटौती प्रस्ताव रखते हुए भाजपा विधायक अनंत ओझा ने कहा कि चुनाव से पहले जो वादा सरकार ने की थी उसपर कोई काम नहीं हुआ। सरकार ने किसानों के 2 लाख रुपए तक ऋण माफ करने की घोषणा की थी। सरकार बताए कितने किसानों का 2 लाख रुपए का ऋण माफ हुआ। कहा कि इस सरकार ने नारों और वादों के भरोसे जनता का समर्थन तो लिया, लेकिन जनता के भरोसे का एक भी काम नहीं किया। वहीं अनुदान मांग के समर्थन में बोलते हुए झामुमो विधायक सुदिव्य कुमार सोनू ने कहा कि राज्य सरकार किसानों को मजबूत करने का हरसंभव प्रयास कर रही है। कहा कि केंद्र सरकार ने काला कृषि कानून लाकर देश के 700 किसानों को मार डाला। कहा कि कृषि कानून लाने के लिए केंद्र सरकार ने संवैधानिक व्यवस्था के साथ खिलवाड़ किया। कहा कि हमारी सरकार ने जो वादा घोषणा पत्र में किया है उसके अधिकतम वादे को पूरा करने का सतत प्रयास कर रही है। किसानों की ऋण माफी के लिए 826 करोड़ रुपए अबतक भेज दिया गया है। 35 लाख किसानों तक किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराया गया है। इसके लिए 10 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान अबतक किया गया है। पलाश ब्रांड की चर्चा सभी जगह हो रही है। झारखंड में पलाश ब्रांड के 149 आउटलेट खोले गए हैं। पिछले वर्ष इस ब्रांड का टर्न ओवर 17 करोड़ का था।

Show More

Related Articles