मैट्रिक-इंटर की परीक्षा के बाद होगा जैक बोर्ड का पुनर्गठन : जगरनाथ महतो

शैक्षणिक पदाधिकारी एवं वित्त पदाधिकारी के पद पर संविदा के आधार पर नियुक्ति की गई है

रांची : झारखंड अधिविद्य परिषद (जैक) बोर्ड का पुनर्गठन मैट्रिक व इंटरमीडिएट परीक्षा के बाद किया जाएगा। विधायक जयप्रकाश भाई पटेल के पूछे सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने सदन में यह कहा है। जयप्रकाश भाई पटेल ने कहा है कि जैक में शैक्षणिक पदाधिकारी, वित्त पदाधिकारी एवं परीक्षा नियंत्रक पद स्वीकृत हैं, लेकिन फिलहाल खाली है। इसपर मंत्री ने जवाब दिया है कि शैक्षणिक पदाधिकारी एवं वित्त पदाधिकारी के पद पर संविदा के आधार पर नियुक्ति की गई है, जबकि परीक्षा नियंत्रक पद रिक्त है। जैक सचिव द्वारा रिपोर्ट किया गया है कि पूर्णकालिक नियुक्ति नहीं किए जाने से परिषद का कार्य प्रभावित नहीं हो रहा है। परिषद अपना कार्य निष्पादित कर रहा है। जहां तक पूर्णकालिक नियुक्ति की बात है तो भविष्य में नियुक्त प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। जयप्रकाश भाई पटेल ने कहा है कि जैक में हर साल 50 से 60 करोड़ रुपए तक का कारोबार होता है। अगर संविदा कर्मी पैसे लेकर भाग जाए तो क्या होगा। इन्होंने सरकार से मांग की है कि वित्त पदाधिकारी का अनुभव 10 साल और एमबीए होना चाहिए। संविदाकर्मियों की नियुक्ति में भी भारी गड़बड़ी है।

Show More

Related Articles