मोतिहारी में तीन अपराधी गिरफ्तार, ढाका रजिस्ट्री कार्यालय गोलीकांड का मुख्य आरोपी भी हिरासत में

अपराधियों के खिलाफ पूर्वी चंपारण पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. एक तरफ जहां ढाका रजिस्ट्री कार्यालय गोलीकांड में मुख्य आरोपी दिलीप यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

अपराधियों के खिलाफ पूर्वी चंपारण पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. एक तरफ जहां ढाका रजिस्ट्री कार्यालय गोलीकांड में मुख्य आरोपी दिलीप यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं दरपा थाना क्षेत्र में एक माइक्रो फाइनेंस कंपनी कर्मी के साथ हुई लूटपाट का 24 घंटे के अंदर खुलासा करते हुए पुलिस ने दो लुटेरों को गिरफ्तार किया है.

ढाका रजिस्ट्री कार्यालय गोलीकांड में गिरफ्तारी पुलिस ने जिला के ढाका रजिस्ट्री ऑफिस के सामने पिछले 15 फरवरी को दिनदहाड़े वरुण सिंह की गोलियों से भूनकर हुई हत्या मामले के मुख्य आरोपी दिलीप यादव को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि, दिलीप यादव के पास से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ है. बताया जाता है कि किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए दिलीप के नेपाल से भारतीय परिक्षेत्र में आने की सूचना मिली थी. सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी कर लखौरा थाना क्षेत्र के धुमनगर से उसे गिरफ्तार कर लिया.

दिलीप यादव की गिरफ्तारी बड़ी कामयाबी मोतिहारी एसपी कुमार आशीष ने बताया कि दिलीप यादव वर्ष 2017 में छौड़ादनो के व्यवसायी बसंत साह का अपहरण कर 30 लाख रुपए की फिरौती वसूलने के बाद चर्चा में आया था. वह अंतर जिला आपराधिक गिरोह का सदस्य है और उस पर 10 मामले दर्ज है. एसपी के अनुसार दिलीप की गिरफ्तारी जिला पुलिस के लिए एक बड़ी उपलब्धि है.

माइक्रो फाइनेंस कंपनी से लूट का खुलासा वहीं दरपा थाना क्षेत्र में एक माइक्रो फाइनेंस कंपनी के कर्मी के साथ हुई लूटपाट का 24 घंटे के अंदर खुलासा करते हुए पुलिस ने दो लुटेरों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बदमाशों के पास से एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस, लूट के 25 हजार रुपए और एक मोटरसाइकिल बरामद किया है. गिरफ्तार मोतीलाल कुशवाहा दरपा थाना क्षेत्र का रहने वाला है. जबकि विक्की उर्फ आदित्य छौड़ादानो थाना क्षेत्र का रहने वाला है. एसपी डॉ. कुमार आशीष ने बताया कि 7 मार्च को अज्ञात हथियारबंद अपराधियों ने फ्यूजन माइक्रो फाइनेंस कंपनी के कर्मी से हथियार के बल पर 25 हजार रुपए लूट लिया था.

Show More

Related Articles