गोपालगंज: नवविवाहित की गला दबाकर हत्या, इसी महीने बनने वाली थी मां

बिहार के गोपालगंज जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां दहेज के दानवों ने एक नवविवाहित की जान ले ली. मृतक महिला इसी महीने मां बनने वाली थी.

बिहार के गोपालगंज जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है जहां दहेज के दानवों ने एक नवविवाहित की जान ले ली. मृतक महिला इसी महीने मां बनने वाली थी.
घटना गोपालगंज जिले के मीरगंज थाना क्षेत्र के हरखौली गांव की है. जहां एक कमरे में महिला का शव फांसी के फंदे से झूलने की सूचना पुलिस को मिली थी. सूचना मिलने के बाद मीरगंज पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तब तक ग्रामीणों ने रस्सी काटकर शव को नीचे उतार दिया था. मौके पर पहुंचे मृतका के पिता ने शव पर चोंट के निशान देखकर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया है.
मृतक महिला के परिजनों के मुताबिक शादी के कुछ ही महीने बाद बाद ससुराल वालों ने कारोबार करने के लिए शिल्पी के मायकेवालों से दहेज में पांच लाख रुपये की मांग कर दी. दहेज के पैसे नहीं मिलने पर 9 माह गर्भवती बेटी पर अत्याचार शुरू कर दिया. इस दौरान दो दिसंबर की रात में ससुराल वालों ने शिल्पी की गला दबाकर हत्या कर दी और पुलिस से बचने के लिए सुसाइड का रूप देने की कोशिश में शव को दरवाजे पर फंदे से लटका कर सभी फरार हो गये.
वहीं, मृतक महिला के पिता ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि दामाद अनिल प्रसाद शादी के बाद से ही दहेज को लेकर आए दिन शिल्पी की पिटाई करता था.
बताया जाता है कि पिछले दिसंबर 2020 को जादोपुर थाना क्षेत्र के विशुनपुर बलुआ टोला के रहनेवाले प्रभु साह ने अपनी 20 वर्षीय बेटी शिल्पी कुमारी की शादी मीरगंज के हरखौली के रहनेवाले कपड़ा व्यवसायी लक्ष्मण प्रसाद के बेटे अनिल प्रसाद के साथ की थी. महिला नौ महीने की गर्भवती थी. वो इसी महीने मां बनने वाली थी.
बता दें कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई में जुट गई है.

Show More

Related Articles