बिहार: आर्थिक अनुसंधान इकाई की बड़ी कार्रवाई, अवैध बालू खनन मामले में दो अधिकारियों के ठिकानों पर छापेमारी

अवैध बालू खनन के मामले में आर्थिक अनुसंधान इकाई ने बड़ी कार्रवाई की है. आय से अधिक संपत्ति मामले में इकाई ने दो अधिकारियों पर शिकंजा कसा है.

 

अवैध बालू खनन के मामले में आर्थिक अनुसंधान इकाई ने बड़ी कार्रवाई की है. आय से अधिक संपत्ति मामले में इकाई ने दो अधिकारियों पर शिकंजा कसा है.
खबरों के मुताबिक, पटना के तत्कालीन मोटरयान निरीक्षक मृत्युंजय कुमार सिंह और वकील प्रसाद के ठिकानों पर छापा पड़ा है. विक्रम के तत्कालीन अंचलाधिकारी वकील प्रसाद सिंह के पटना के गोलारोड और रोहतास आवास पर छापा पड़ा है. वहीं मृत्युंजय कुमार सिंह के पटना और औरंगाबाद आवास पर छापेमारी चल रही है.
बता दें कि बालू के धंधे से अवैध कमाई करने वाले दो सरकारी सेवकों के खिलाफ बिहार और झारखंड के कम से कम चार शहरों में अलग-अलग ठिकानों पर आर्थिक अपराध अनुसंधान इकाई (ईओयू) का छापा पड़ गया है.  ईओयू की टीम ने मंगलवार की सुबह बिहार की राजधानी पटना, झारखंड की राजधानी रांची के साथ ही औरंगाबाद और रोहतास में भी छापा मारा है.

Show More

Related Articles