उपचुनाव के बहाने महागठबंधन में बनी गांठ, कांग्रेस ने बिहार में लोकसभा चुनाव अकेले लड़ने का किया ऐलान

बिहार में दो सीटों पर विधानसभा का उपचुनाव होना है, जिसके मद्देनजर सभी पार्टियां प्रचार में जुट गईं हैं.

 

बिहार में दो सीटों पर विधानसभा का उपचुनाव होना है, जिसके मद्देनजर सभी पार्टियां प्रचार में जुट गईं हैं. 2020 का विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ने वाली कांग्रेस व राजद ने इन दो सीटों के लिए अपने अलग-अलग उम्मीदवार उतारे हैं.

इन सब के बीच आज दिल्ली से पटना पहुंचे कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास ने राजद से गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया. भक्त चरण दास ने कहा कि लोकसभा चुनाव में बिहार की सभी 40 सीटों पर कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ेगी. कांग्रेस प्रभारी ने साफ किया कि राजद ने महागठबंधन धर्म का पालन नहीं किया. इस कारण उपचुनाव में हम पूरी ताकत से लड़ रहे हैं. हमारे सभी नेता बिहार पहुंच चुके हैं और जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं.

अभी पिछले दिनों कांग्रेस के बिहार प्रभारी ने राजद पर आरोप लगाया था कि वह भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. तब राजद के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कांग्रेसियों को संघी कहा था.
मनोज झा के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भक्त चरण दास ने कहा कि उन्होंने क्या कहा यह हम नहीं जानते हैं. हम बस इतना जानते हैं कि उपचुनाव के बाद राजद और भाजपा के बीच फासला और कम होगा.

गौरतलब है कि राज्य में खाली पड़े दो विधानसभा सीटों,  कुशेश्वरस्थान और तारापुर में उपचुनाव होने हैं जिसकी वोटिंग 30 अक्टूबर को होगी. जिसके मद्देनजर सभी पार्टियों ने चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है.

 

यह भी पढ़ें- सहरसा: गुस्से में पति ने पत्नी व तीन बच्चों पर फेंका तेजाब, सभी अस्पताल में भर्ती

Show More

Related Articles