धान काटने के विवाद में चाचा ने की भतीजे की हत्या, हुआ फरार

सगे चाचा ने अपने ही सगे भतीजे 45 वर्षीय राकेश रंजन उर्फ रक्कू की पत्नी और बेटी के साथ मिल धारदार हथियार से कई वार  कर मार डाला.

धरहरा थाना क्षेत्र के भलार गांव से थोड़ी दूर स्थित सुदंरडीह खलिहान उस समय रक्तरंजित हो गया जब सगे चाचा ने अपने ही सगे भतीजे 45 वर्षीय राकेश रंजन उर्फ रक्कू की पत्नी और बेटी के साथ मिल धारदार हथियार से कई वार  कर मार डाला. जबकि भाभी को बुरी तरह से जख्मी कर दिया. मृतक जमालपुर के प्रसिद्ध होटल हिलव्यू का मालिक था . जो जमालपुर से तैयार धान की फसल लाने अपने पेतृक गांव धरहरा थाना क्षेत्र के भलार गांव गया था. इधर पुलिस ने मां-बेटी को हिरासत में ले लिया. बताया जाता है कि जमालपुर थानां क्षेत्र के धर्मशाला रोड निवासी राकेश रंजन उर्फ रक्कू अपनी मां माला देवी के साथ  अपने पेतृक गांव भलार पहुंचा. जहां से वह गांव से थोड़ी दूर हट कर सुंदरडीह खलिहान गया. जहां पर 17 कट्टे में उपजा तैयार धान को अपने चाचा के साथ बंटवड़ा के लिये खलिहान में मजदूरों से धान की फसल तैयार करवा रहा था. इसी दौरान विजय यादव की बेटी शिवानी व प्रीति तैयार धान के बंटवारे को लेकर माला देवी के साथ विवाद करने लगी. मां और चचेरी बहनों के बीच विवाद बढ़ता देख रक्कू ने बीचबचाव किया और दोनों चचेरी बहनों को फटकार कर वहां से हटा दिया. जिसके बाद खार खाई दोनों बहनें लौट कर घर चली गई और वहां से अपने पिता विजय यादव और मां के साथ लाठी- गड़ासा लेकर खलिहान पंहुच गई रक्कू यादव पर हमला बोल दिया. अचानक हुए हमले में वह संभल नहीं पाया और धारदार गड़ासे से जानलेवा हमला बोल दिया.इसी बीच राकेश की सगी चाची हेलन देवी और चचेरी बहन शिवानी व प्रीति घर से गड़ासा लेकर दौड़ पड़ी. चाचा विजय यादव ने अपनी पत्नी व बेटी से गड़ासा लिया और रिक्कू पर ताबड़तोड़ हमला करने लगा.

chacha

उसे बचाने आई मां माला देवी पर भी हमला किया. जिसमें दोनों लहू-लुहान होकर खलिहान पर ही जमीन पर गिर पड़ा. रिक्कू गड़ासे की प्रहार से बुरी तरह जख्मी हो गया. स्थानीय ग्रामीणों पहुंचे और रक्कू को उठा कर मुंगेर सदर अस्पताल लाया. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

Show More

Related Articles