आकांक्षी जिला प्रभारी ने सिमडेगा के विकास की परत दर परत जायजा लिया

श्री पंत को स्थल मुआयना के दौरान उपायुक्त ने विस्तार से विकास कार्यों की जानकारी दी

रांची-सिमडेगा : भारत सरकार आकांक्षी जिला प्रभारी अधिकारी कमलेश कुमार पंत आकांक्षी जिला की श्रेणी में शामिल सिमडेगा जिला के विकासशील कार्यों का भ्रमण कर जायजा लिया। उपायुक्त सिमडेगा सुशांत गौरव संग पर्यटक स्थल केलाघाघ, सदर अस्पताल, एथलेटिक्स स्टेडियम, इंडोर स्टेडियम, एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम, जिला पुस्तकालय सहित कोचेडेगा के लुकीबहार में कृषि कार्य के मॉडल का अवलोकन किया। सब्जी की फसल और गेहूं की लहलहाती फसल का जायजा लिया। श्री पंत सबसे पहले पर्यटक स्थल केलाघाघ पहुंचे। केलाघाघ डैम की खूबसूरती देख प्रभावित हुए। पर्यटक स्थल को विकसित करने की दिशा में जिला प्रशासन के द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की। जिले में पर्यटन स्थल को विकसित करने की दिशा में किए जा रहे प्रयास के मुख्य बिन्दुओं से उपायुक्त ने उन्हें अवगत कराया। वहीं डैम से निकली नहरों के माध्यम से स्थानीय स्तर पर उपलब्ध सिंचाई सुविधा व कृषि कार्य के बारे में भी बताया। केलाघाघ में सुरक्षा व्यवस्था के साथ कैन्टीन की सुविधा को देख कहा कि केलाघाघ बहुत अच्छा लगा। पर्यटक स्थलों के विकास होने से न केवल पर्यटकों को लाभ मिलेगा, बल्कि आर्थिक गतिविधि को भी बल मिलेगा। उसके बाद श्री पंत दूसरे भ्रमण में सदर अस्पताल पहुंचे और वहां की स्वास्थ्य व्यवस्था को देख प्रभावित हुए। बच्चों की स्वास्थ्य सुविधा के लिए बने पीके वार्ड में मनोरंजन के साथ चिकित्सा व्यवस्था की प्रशंसा की। इसके उपरांत उन्होने कुपोषण उपचार केन्द्र का जायजा लिया। बच्चों को कुपोषण से मुक्त बनाने की दिशा में स्वास्थ्य विभाग के प्रयासों को बेहतर बताया। बच्चों के ग्रोथ चार्ट की जांच की। उपायुक्त ने बताया कि किस प्रकार कुपोषित बच्चों को चिह्नित कर एमटीसी के माध्यम से स्वस्थ बनाते हुए स्थानीय स्तर पर पोषण की देखरेख की दिशा में कार्य किए जा रहे है। अस्पताल की साफ-सफाई की सराहना की। प्रसव केन्द्र के नर्सों से मिल संस्थागत प्रसव की सुविधाओं की जानकारी ली। आईसीयू कक्ष में बहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की प्रशंसा की। उपायुक्त ने कहा कि सदर अस्पताल में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा बहाल का प्रयास किया गया है, जिले में फिलहाल डॉक्टर की आवश्यकता है। फिर श्री पंत एथलेटिक्स स्टेडियम एवं इंडोर स्टेडियम का जायजा लिया। खेल के क्षेत्र में जिले के लिए पहला एथलेटिक्स स्टेडियम एवं इंडोर स्टेडियम को देखा। निर्माणधीन कार्याे का जायजा लिया। उपायुक्त ने स्टेडियम निर्माण कार्यों से अवगत कराया। प्रभारी अधिकारी केके पंत ने अभिसरण के माध्यम से किए जा रहे कार्यों की सराहना की, कहा कि अभिसरण की राशि का सही इस्तेमाल किया गया है। पंत ने एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम जाकर खिलाड़ियों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि सिमडेगा हॉकी की नर्सरी है। खेल के साथ-साथ शिक्षा पर भी ध्यान दें। उपायुक्त ने बताया कि सलीमा टेटे भी इन्ही खिलाड़ियों के बीच से उठकर आगे बढ़ी है। पंत जिला पुस्तकालय भी पहुंचे। पुस्तकालय में विद्यार्थियों को पढ़ते देखा। उन्होंने पुस्तकालय की सुविधा की सराहना की। उपायुक्त ने जिला पुस्तकालय हेतु अतिरिक्त भवन निर्माण के बारे में जानकारी दी। पंत कोचेडेगा पंचायत स्थित लुकीबहार पहुंच मॉडल कृषि पद्धति का जायजा लिया। स्थानीय किसानों के द्वारा सब्जी उत्पादन कार्य का अवलोकन किया। जैविक खाद् निर्माण की पद्धति का जायजा लिया। खेतों में विभिन्न तरह की फसल को देखा। स्थानीय किसानों की मेहनत की सराहना की। उन्होंने कृषि संवाद कार्यक्रम में भी भाग लिया। उपस्थित स्थानीय किसानों को उत्प्रेरित किया। उन्होने बताया कि सिमडेगा जिला एक छोटा जिला है, जहां इतनी अच्छी सुविधा होगी, हमे लग नही रहा था। लुकीबहार का भ्रमण कर मुझे काफी आनंद आया। कहा, जहां कभी झाड़िया उगती थी, जमीन बंजर पड़ी थी, उस जमीन को सोलर इरीगेशन के माध्यम से उपजाऊ बनाया गया है। उन्होने जिला प्रशासन को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि इस प्रकार के कार्य को ओर आगे बढ़ाएं, इससे सिमडेगा को आकांक्षी जिला से एक विकसित जिला बनाने में काफी मदद मिलेगी। पंत सिमडेगा एक्सपोजर विजिट के दौरान जिले के विकासशील कार्यों का जायजा लिया, कार्यप्रणाली को देख प्रभावित हुए और कहा कि केन्द्र स्तर पर यहां के विकास के लिए क्या कर सकता हूं, इस ओर उनका प्रयास रहेगा।

Show More

Related Articles