बिहार: सीएम नीतीश ने एक बार फिर उठाई बिहार को विशेष दर्जा देने की मांग, कही यह बात

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने को ले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि यह कोई व्यक्तिगत विचार नहीं है

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने को ले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि यह कोई व्यक्तिगत विचार नहीं है, बल्कि यह जनहित में है और राज्य के हित में है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे कहा कि विशेष राज्य के दर्जे के लिए हमलोगों ने बड़ा अभियान चलाया है. कई जगहों पर सभाएं हुई हैं, कितनी बैठकें हुईं. हमलोग अपनी मांग रखे ही हुए हैं. नीति आयोग की रिपोर्ट में भी बिहार को सबसे पिछड़ा बताया गया है. बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलने से यही फायदा होगा कि केंद्रीय प्रायोजित योजनाओं में केंद्र और राज्य की हिस्सेदारी 90:10 के अनुपात में होगी. अभी 60:40, तो कहीं–कहीं 50:50 है. इससे राज्य का जो पैसा बचेगा, वह विकास के और कामों में लगेगा. कुल मिलाकर आज जो स्थिति है, उससे बहुत तेजी से राज्य आगे बढ़ेगा.

सीएम ने कहा कि अगर बिहार पीछे है, तो उसका कारण क्षेत्रफल की तुलना में आबादी का अधिक होना है. एक वर्ग किमी में जितनी आबादी बिहार में है, उतनी आबादी इस देश में कहीं भी नहीं है और शायद दुनिया में भी कहीं नहीं है.

Show More

Related Articles