झारखंड में अल्पसंख्यक बोर्ड निगम का अब तक गठन ना होना चिंता का विषय

राज्य में मिल्लि कन्वेंशन एदार ए शरीया का आयोजन हो रहा, सामाजिक, आर्थिक एवं अपने अधिकारों जैसे विषेशकर विश्व विद्यालय की स्थापना व अन्य समस्याओं पर चर्चा हो रही है

रांची : एदार ए शरीया झारखंड के प्रदेश कार्यालय इसलामी मरकज हिंद पीडी रांची के प्रवक्ता मौलाना जसीमुद्दीन खान ने सुचना दी है कि इस समय राज्य भर में एदार ए शरीया झारखंड के तत्वावधान में पूरे राज्य में मिल्लि कन्वेंशन एदार ए शरीया का आयोजन हो रहा है जिसमें अल्पसंख्यक समुदाय की तालीमी, सामाजिक, आर्थिक एवं अपने अधिकारों जैसे विषेशकर विश्व विद्यालय की स्थापना व अन्य समस्याओं पर चर्चा हो रही है। खान ने बताया कि इस दौरान विभिन्न जगहों पर एदार ए शरीया झारखंड के नाजिमे आला मौलाना कितुबुद्दीन रिजवी ने राज्य के अनेक ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा की और कहा कि राज्य के चप्पे-चप्पे को हरा भरा रखना और हर एक व्यक्ति को शिक्षित बनाना अपने जीवन का बहु मूल्य उद्देश्य होना, आला ने राज्य के मुस्लिम समुदाय की समस्याओं पर विभिन्न कन्वेंशन व इजलास का  सम्बोधित करते हुए कहा की झारखंड के गठन हुए 22 वर्ष होने को हैं, परंतु इन 22 वर्षों में उर्दू अकेडमी व मदरसा बोर्ड का गठन ना होना बडी चिंता की बात है, मौलाना रिजवी ने सम्बोधन में कहा की 6 वर्षों से सुन्नी वक्फ बोर्ड, ढाइ वर्षों से अल्पसंख्यक आयोग खाली पडा हुआ है जिस से समुदाय के बीच असंतोष पाया जा रहा है। नाजिमे आला ने कहा कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिल कर समुदाय की भावनाओं से अवगत करा दिया गया है ओर अपेक्षा है कि झारखंड सरकार समस्याओं का जल्द ही हल करेगी अब आगे विलंब करना नुक़सानदेह साबित हो सकता है। विदित हो कि एदार ए शरीया झारखंड का राज्य भर का दौरा एवं तहरीके बेदारी व अधिकार इजलास विभिन्न क्षेत्रों में हो रहा है जो मार्च के अंत तक चलेगा।

Show More

Related Articles