कोरोना: पटना एम्स में दो महीने बाद किसी संक्रमित व्यक्ति की हुई मौत, सिर्फ 25 है कुल सक्रिय मरीजों की संख्या

देशभर में 100 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीका का डोज लगाकर भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर है. टीके के महाअभियान के चलते ही त्योहारों के मौसम में भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कोई खास इजाफा नहीं हुआ है.

 

देशभर में 100 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीका का डोज लगाकर भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर है. टीके के महाअभियान के चलते ही त्योहारों के मौसम में भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कोई खास इजाफा नहीं हुआ है.
इन सब के बीच बिहार में लंबे समय के बाद किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत हुई है. युवक की पहचान पटना के कंकड़बाग निवासी 83 वर्षीय यूपी शर्मा के रूप में हुई है, जो मूलरूप से औरंगाबाद जिले के निवासी थे.
मामले की जानकारी देते हुए पटना एम्स अस्पताल के कोविड वार्ड के नोडल पदाधिकारी डॉ संजीव कुमार ने बताया कि जिस बुजुर्ग की कोरोना से मौत हुई है उनको पांच दिन पहले ब्लड प्रेशर आदि कुछ बीमारी के बाद अस्पताल लाया गया था. यहां संदेह हुआ तो कोरोना जांच करायी गयी, जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आयी. कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद में उनको कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया. भर्ती के बाद लगातार उनका स्वास्थ्य गिरता गया और शुक्रवार की शाम में मौत हो गयी. उन्होंने बताया कि पटना एम्स में लंबे समय बाद कोविड से मरीज की मौत हुई है.
गौरतलब है कि बिहार स्वास्थ्य विभाग के ट्वीटर पर साझा की गई जानकारी के अनुसार, शाम 4 बजे तक की रिपोर्ट में विगत 24 घंटे में कुल 1,14,387 सैम्पलों की जांच की गई. जिसमें 1 नया मामला सामने आया है. वैशाली जिला से एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. बिहार स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अभी सूबे में कुल 25 सक्रिय मामले बताये गये हैं.

यह भी पढ़ें- आज का राशिफल- जानिए कैसा रहेगा आपका दिन

Show More

Related Articles